गाना / Title: किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार

चित्रपट / Film:  अनाडी

संगीतकार / Music Director:  शंकर जयकिशन

गीतकार / Lyricist: शैलेंद्र

गायक / Singer(s): मुकेश

किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसीके वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है

किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसीके वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है

माना अपनी जेब से फ़क़ीर है
फिर भी यारो दिल के हम अमीर है
माना अपनी जेब से फ़क़ीर है
फिर भी यारो दिल के हम अमीर है
मिटे जो प्यार के लिए वो ज़िन्दगी
जले बहार के लिए वो ज़िन्दगी
किसी को हो न हो हमें तो ऐतबार
जीना इसी का नाम है

रिश्ता दिल से दिल के एतबार का
ज़िंदा है हमी से नाम प्यार का
रिश्ता दिल से दिल के एतबार का
ज़िंदा है हमी से नाम प्यार का
के मर के भी किसी को याद आयेगे
किसी के आंसुओं में मुस्कुरायेंगे
कहेगा फूल हर कलि से बार बार
जीना इसी का नाम है

किसी की मुस्कुराहटों पे हो निसार
किसी का दर्द मिल सके तो ले उधार
किसीके वास्ते हो तेरे दिल में प्यार
जीना इसी का नाम है.

मुस्कराहट = स्मित हास्य, हसू

निसार = स्वाधीन 

जेब = खिसा

फ़कीर = अत्यन्त गरीब

ऐतबार = विश्वास